[betul] - ग्रीष्मकाल में 600 फीट गहराई तक सूख जाते हैं बोर, जलसंकट से निपटने नगरपालिका ने शुरू की तैयारी

  |   Betulnews

सारनी. ग्रीष्मकाल में जलसंकट से निपटने नगरपालिका ने अभी से तैयारी शुरू कर दी है। जिन वार्डों में सबसे ज्यादा जलसंकट की स्थिति निर्मित होती है। वहां पूरे समय पानी उपलब्ध कराने अलग से टैंकर की व्यवस्था की जा रही है। इसी के साथ शोभापुर और बगडोना के वार्डों को जलापूर्ति करने वहीं व्यवस्था बनाई जा रही है। ताकि सारनी से बगडोना तक लंबी दूरी तय कर टैंकरों से जलापूर्ति करने की आवश्यकता नहीं पड़े। ऐसा करने से डीजल की बचत तो होगी ही। समय बचने के साथ-साथ वार्डों में समय पर जलापूर्ति की जा सकेगी। इन्हीं सब को ध्यान में रखते हुए मुख्य नगरपालिका अधिकारी सीके मेश्राम द्वारा कार्ययोजना तैयार की जा रही है। उन्होंने बताया कि 36 में से अधिकांश वार्ड वेकोलि पाथाखेड़ा और मप्र पॉवर जनरेटिंग कंपनी सारनी के क्षेत्र में शामिल है। ऐसी स्थिति में 10 लाख लीटर से ज्यादा पानी की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। नगरपालिका के कुंओं में पर्याप्त पानी है। सारनी के कुछ वार्डों को पाइप लाइन और कुछ वार्डों में टैंकरों के जरिए जलापूर्ति कर ग्रीष्मकाल से निपटा जा सकता है।...

फोटो - http://v.duta.us/nVx2IgAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/gE0BYgAA

📲 Get Betul News on Whatsapp 💬