[betul] - शिक्षा समिति भंग होने की उलझन में १६ शिक्षकों व ५८२ विद्यार्थियों का भविष्य

  |   Betulnews

सारनी. कोल नगरी पाथाखेड़ा का गौरव अशासकीय उच्चत्तर माध्यमिक विद्यालय (बड़ा स्कूल) का अस्तित्व खतरे में पड़ गया है। जब से स्कूल के भविष्य पर खतरा मंडराने का अहसास कार्यरत शिक्षकों को हुआ है तब से पूरा शिक्षक स्टॉफ असमंजस में हैं। खासबात यह है कि इस विद्यालय में अध्ययन करने वाले छात्र देश का नाम विदेशों में तक रोशन कर रहे हैं। इसी स्कूल में पढऩे वाले छात्र आज सरकार में मंत्री भी है। फिर भी स्कूल का अस्तित्व खतरे में पड़ गया है। इस स्कूल को बचाने कोल नगरी के वाशिंदों को संघर्ष करने की जरूरत है। गौरतलब है कि बड़े स्कूल के अलावा बालकों के लिए हाई और हायर सेकंडरी स्कूल तक नहीं है। ऐसे में स्कूल को बचाना बहुत जरूरी है। यहां पदस्थ महेन्द्र प्रताप सिंह, केएल जावलकर बताते हैं कि हमें इस स्कूल में सेवाएं देते हुए 30 वर्षों से अधिक समय हो गया है। उम्र के आखिरी पड़ाव में वेस्टर्न कोल फील्ड्स लिमिटेड द्वारा शिक्षा समिति भंग की जाती है तो हमारे पास कोई दूसरा विकल्प नहीं बचेगा। शिक्षकों ने बताया कि हमें वेकोलि से फंड इतना कम मिलता है कि हम शिक्षकों का वेतन शासकीय दर पर मजदूरी करने वाले मजदूर से भी कम है। बावजूद इसके देशहित में हम सभी सतत सेवाएं दे रहे हैं। लेकिन समिति भंग करने की खबर से हम टूट से गए हैं। इस मामले को लेकर सभी शिक्षकों ने सामूहिक रूप से कलेक्टर को ज्ञापन सौंपकर शिक्षा समिति भंग नहीं करने का आग्रह किया है।...

फोटो - http://v.duta.us/zqvbVgAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/bFx3egAA

📲 Get Betul News on Whatsapp 💬