[bhopal] - जीवन में किए प्रॉमिस ही रिश्तों का आधार

  |   Bhopalnews

भोपाल। शहीद भवन में त्रिकृषि संस्था ने नाटक प्रॉमिस का मंचन किया। नाटक युवा लेखिका निकिता सिंह के उपन्यास पर आधारित है। इसका हिन्दी अनुवाद दिनेश नायर ने किया है। वहीं, इसके लेखक विवेक कहार है। 1.30 घंटे के इस नाटक का निर्देशन आदर्श शर्मा और सह-निर्देशन अदिशा नायर ने किया है। डायरेक्टर का कहना है कि वह करीब दो साल से इसकी स्क्रिप्ट पर काम कर रहे थे। मूल उपन्यास के अंत में प्रेमी-प्रेमिका का मिलन हो जाता है। मेरी कहानी में नाटक का अंत प्रेमिका की मौत से होता है, प्रेमी उसके द्वारा किए गए वादे पूरे करता है। नाटक के माध्यम से ये मैसेज देने की कोशिश की गई कि हम जिंदगी में अपने प्यार-परिवार से वादे तो कर देते हैं, लेकिन कई कारणों से इसे पूरा नहीं कर पाते। भले ही जीवन में प्रॉमिस का अंत नहीं होता, लेकिन यही हर रिश्ते का आधार है।...

फोटो - http://v.duta.us/VaflGwAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/u1W2aQAA

📲 Get Bhopal News on Whatsapp 💬