[chhindwara] - मंडी परिसर से हटाई चाय नाश्ते की गुमठियां

  |   Chhindwaranews

छिंदवाड़ा. कृषि उपज मंडी कुसमेली परिसर में चल रही चाय और नाश्ते की गुमठियों को गुरुवार को प्रबंधन ने हटावा दिया। मंडी प्रबंधन ने मंडी परिसर में रखी लगभग १५ गुमठियों को ट्रेक्टर में भरकर कर्मचारी ले गए। मंडी प्रबंधन इसे मुख्यालय से मिले निर्देशों के तहत कार्यवाही करना बता रहा है। मंडी अधिकारियों का कहना है कि मंडी बोर्ड भोपाल और जबलपुर कार्यालय से परिसरों में हुए अतिक्रमणों को हटाने का निर्देश पत्र जारी किया गया है। उसी के चलते ये गुमठियां हटाई गई। इधर कार्यवाही का परिसर में काम करने वाले हम्मला और श्रमिकों में विरोध भी देखा जा रहा है। गुमठी चलाने वाले कई तों यहां काम करने वाले हम्माल और श्रमिक परिवारों से ही है। उनका कहना है कि वे सालों से यहां चाय-नाश्ता बेच रहे हैं और उनकी गुमठियां कहीं भी मंडी के कामकाज में बाधा नहीं बन रही है। उसके बावजूद उन्हें यहां से बेदखल किया जा रहा है। हम्माल श्रमिक संघ के सुनील डेहरिया ने बताया कि मंडी में काफी जगह हैं। इन गुमठियों को एक निश्चित जगह देकर वहां संचालित करने की व्यवस्था मंडी प्रबंधन को करना चाहिए ताकि उनका जीवन यापन चलता रहे। उन्होंने बताया कि मंडी में एक हजार के लगभग हम्माल श्रमिक हैं। चाय-पानी के लिए दिनभर वे इन्हीं गुमठियों के भरोसे रहते हैं। इनके हट जाने से कामगारों की मुसीबतें बढ़ जाएगी। सब्जीमंडी का अतिक्रमण कब हटेगाकृषि मंडी से ठेले हटाने के बाद अब गुरैया रोड स्थित सब्जी मंडी परिसर में हुए अतिक्रमण केा हटाने मंडी प्रबंधन पर भी दबाव बढ़ेगा। परिसर में दिनभर ये चर्चा भी रही कि कुसमेली से ज्यादा अतिक्रमण तो गुरैया मंडी में है। वहां तो होटलें संचालित की जा रही है। जबकि अंदर का क्षेत्र संवेदनशील है। यहां का अतिक्रमण हटाने की प्रक्रिया विभाग को पहले करनी चाहिए। इस संबंध में हम्मला और श्रमिक शुक्रवार को व्यापारियों से बात करने के बाद सचिव को एक ज्ञापन देने की भी तैयारी कर रहे हैं।

फोटो - http://v.duta.us/kVCSUQAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/YswqEAAA

📲 Get Chhindwara News on Whatsapp 💬