[dholpur] - पथराने लगीं इंतजार में आंखें

  |   Dholpurnews

पथराने लगीं इंतजार में आंखें

राजाखेड़ा(धौलपुर). जम्मू-कश्मीर के अवंतीपोरा में सीआरपीएफ काफिले पर आत्मघाती हमले में देश के लिए शहीद हुए जवान भगीरथ पुत्र परसराम के राजाखेड़ा स्थित गांव जैतपुरा में लोगों के शहीद परिवार को ढांढस बंधाने के सारे प्रयास बेमानी साबित हो रहे थे। वीरांगना रंजना देवी बेसुध थी। बेहद गमगीन माहौल में महिलाएं उसे होश में लाने का प्रयास कर रही थीं। सूचना के बाद शहीद के घर लोगों का तांता लगा हुआ है। शहीद भगीरथ 11 फ रवरी की शाम को ही गांव से वापस अपने तैनाती स्थल के लिए रवाना हुआ था, लेकिन सकुशल पहुंचने की सूचना की जगह शहादत की खबरों ने परिवारजनों को झकझोर कर रख दिया। गांव के ग्रामीण सुबह से ही लोग शहीद की पार्थिव देह का इंतजार कर रहे थे। लेकिन देह तो दूर ना तो सीआरपीएफ अधिकारी और ना ही जिला प्रशासन परिजनों और ग्रामीणों को कोई संतुष्टिपूर्ण जवाब दे पा रहे थे। ऐसे में बड़ी संख्या में जमा लोगों में आक्रोश था।...

फोटो - http://v.duta.us/DS-NEAAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/NdKEswAA

📲 Get Dholpur News on Whatsapp 💬