[gopalgunj] - शहीदों की खबर सुन 1971 की जंग लड़ चुके देवशरण के फड़क उठे अंग, कहा- पहुंचा दो बॉर्डर पर, धूल चटा दूं दुश्मन को...

  |   Gopalgunjnews

गोपालगंज : पुलवामा में कायराना आतंकी हमला और 44 सैनिकों की शहादत पर देश के हर शहर से लेकर गांव तक लोगों में गुस्सा और उबाल है. सभी बदला लेना चाहते हैं. 1971 में पाकिस्तान के साथ युद्ध लड़ चुके देवशरण पांडेय ने जब आतंकी हमले और सैनिकों के शहीद होने की खबर सुनी, तो आंख खोलते हुए उन्होंने कहा कि 'मुझको पाकिस्तान बॉर्डर पर पहुंचा दो, मैं इस कायराना हमले और शहीदों के खून का बदला दुश्मन को धूल चटा का दूंगा.

92 वर्ष की उम्र में देवशरण जी का शरीर और उनकी चेतन शक्ति दोनों लगभग जवाब दे चुकी है. लेकिन, उन्होंने जब यह खबर सुनी, तो बिस्तर पर पड़े-पड़े ही देवशरण ने ना सिर्फ अपनी आंखे खोली, इर्द-गिर्द देखने लगे. उन्होंने कहा कि एक बार पाकिस्तान को हरा चुका हूं. इस बार जाकर नामोनिशान मिटा दूंगा....

फोटो - http://v.duta.us/Gls8RwAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/iEnxKwAA

📲 Get Gopalgunj News on Whatsapp 💬