[hamirpur] - पट्टाधारकों के लाइसेंस सरेंडर पत्र को डीएम ने लौटाया

  |   Hamirpurnews

हमीरपुर। मौरंग खनन में सीबीआई की जांच चलने से जिला सुर्खियों पर है। वहीं खनन में ई-टेंडरिंग प्रक्रिया शुरू होने और प्रशासनिक सख्ती से कारोबारी विचलित हैं। बेतवा और केन नदियों पर चल रहे छह खनन पट्टों का फर्मों ने लाइसेंस सरेंडर करने को आवेदन पत्र डीएम को दिया, लेकिन डीएम ने उसे अस्वीकार कर दिया है।

नदियों से निकाली गई बेतहाशा मौरंग से अब खदान जैसी स्थित नहीं है। मौरंग के भारी भरकम डंप नहीं दिखाई दे रहे हैं। वहीं नदियों में कभी बाढ़ की स्थित बनने से मौरंग भी बहकर कम आ रही है। बालू की आवक कम होने का असर नदियों में स्पष्ट देखा जा रहा है। वहीं जिले में संचालित खदानों से प्रतिदिन करीब 1500 ट्रक मौरंग लोड कर निकल रहे हैं। प्रशासन की सख्ती के बीच ताबड़तोड़ कार्रवाई से पट्टा धारकों में हड़कंप मचा है।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/eT5hdQAA

📲 Get Hamirpur (UP) News on Whatsapp 💬