[harda] - स्लम एरिया चिह्नित होना था, आधे से ज्यादा पार्षद नहीं आए, दो के बेटे, चार के पति पहुंचे

  |   Hardanews

हरदा. नागरिकों ने जिन्हें अपना प्रतिनिधि चुनकर नगर पालिका परिषद में भेजा है वे प्रमुख मुद्दों पर चर्चा के दौरान भी साधारण सम्मेलन में नहीं पहुंचते। गुरुवार को आयोजित महत्वपूर्ण बैठक में शहर का स्लम एरिया (गंदी बस्ती क्षेत्र) चिह्नित हुआ, ताकि यहां रहने वाले लोगों को पात्रता अनुसार प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत बेहद सस्ता मकान मुहैया कराया जा सके। लेकिन इसमें उपाध्यक्ष सहित 16 पार्षद ही शामिल हो सके। वहीं चार पार्षदों के पति व दो के बेटे बैठक में उपस्थित हुए। इसके चलते अन्य लोगों ने अनुपस्थित पार्षदों के वार्डों का स्लम एरिया बताया। महिला पार्षदों के पति व बेटे की उपस्थिति पर किसी ने बैठक में ऐतराज नहीं जताया। बैठक की समाप्ति के बाद कांग्रेस पार्षद मुन्ना पटेल इस मसले पर जरूर बड़बड़ाते दिखे। उनका कहना था कि इससे बैठक की गोपनीयता भंग होती है। इधर, बैठक की शुरुआत में नपाध्यक्ष सुरेंद्र जैन ने महिला पार्षदों की अनुपस्थिति के बारे में उनके पति व बेटों से पूछा तो किसी ने बीमारी तो किसी ने विवाह समारोह की व्यस्तता को इसका कारण बताया।...

फोटो - http://v.duta.us/5GUHiQAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/MAOgPQAA

📲 Get Harda News on Whatsapp 💬