[jalaun] - ठंड के साथ समस्याएं भी लेकर आई बारिश और हवाएं

  |   Jalaunnews

उरई। दो तीन दिन बाद अचानक मौसम में आए बदलाव ने जहां ठंड का एहसास कराया वहीं किसानों के माथे पर भी चिंता की लकीरें गहरी कर दी हैं। बूंदाबांदी और तेज हवाओं से गेहूं की फसल को भले ही फायदा पहुंचा हो लेकिन मटर, चना और मसूर की फसलों को नुकसान ही हुआ है। अधिकांश फसलें खेत पर कटी पड़ी थी। बारिश के कारण खासतौर पर ग्रामीण इलाकों की सड़कों का बुरा हाल है।

सड़कों पर कीचड़ ही कीचड़ नजर आ रहा है। गली कूचों में जलभराव भी हो गया है। जिससे लोगों का पैदल चलना भी दुश्वार है। यही हाल बिजली व्यवस्था का रहा, तेज हवा और आंधी के कारण तड़के से गई बिजली की दिनभर आवाजाही बनी रही। ठंड बढ़ने से सड़क में रहने वाले गरीबों का भी बुरा हाल रहा। अलाव तो भीषण सर्दी में इक्का दुक्का ही दिखे, फिर अब बिन मौसम की बरसात से हुई ठंड में अलावा कहां मिलने वाला है। लिहाजा लोगों को जहां पर भी कूड़ा करकट जो मिला उसी को जलाकर ठंड मिटाने का प्रयास किया। देर शाम भी बारिश होने से रात को ठंड बढ़ गई। रैन बसेरा में भी जरूरतमंदों के लिए कोई इंतजाम नहीं दिखाई दिया।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/yhVu9gAA

📲 Get Jalaun News on Whatsapp 💬