[kanker] - कलेक्टर ने फर्जी रजिस्ट्री की खारिज, 13 साल बाद भी दस्तावेज में सुधार नहीं

  |   Kankernews

कांकेर. जिला मुख्यालय से मात्र 8 किमी दूर आतुरगांव के एक व्यक्ति ने फर्जी भू-स्वामी को खड़ाकर पट्टा भूमि रजिस्ट्री कराने का मामला सामने आया है। पीडि़त ने कांकेर कलक्टर के यहां न्याय की फरियाद की तो कलक्टर ने फर्जी रजिस्ट्री को खारिज कर दिया। कलक्टर ने अपने फैसले में तत्काल तहसीलदार को बड़े झाड़ के जंगल के नाम पर भूमि वापस करने आदेश दिया था। कलक्टर के फैसले के 13 साल बाद भी बड़े झाड़ के नाम पर अभी तक भूमि को दर्ज नहीं किया गया।

आतुरगांव निवासी अनुसूचित वर्ग रमेश कुमार पिता कांशीराम गाड़ा को 1994-95 में खसरा नंबर 586 में रकबा 0.40 हेक्टेयर बड़े झाड़ के जंगल भूमि में कृषि के लिए पट्टा दिया गया था। इस भूमि पर सिर्फ खेती की जानी थी। 28 मार्च 2000 को ब्रम्हादेव मिश्रा पिता रामनंदन मिश्रा जाति ब्राम्हण निवासी सरोना ने किसी अन्य रमेश नाम के व्यक्ति को रजिस्टार के समक्ष खड़ाकर उक्त भूमि की रजिस्ट्री अपने नाम करा ली। काफी दिनों बाद मामला पकड़ में आया गया।...

फोटो - http://v.duta.us/yEl9GwAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/GGwfSAAA

📲 Get Kankernews on Whatsapp 💬