[kota] - दो फीट कीचड़ से होकर शहीद के घर पहुंचे हजारों लोग, तब अफसरों को याद आई अपनी नाकाबिलीयत

  |   Kotanews

कोटा. जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में आतंकी हमले में शहीद हुए कोटा के सपूत हेमराज मीणा का पैतृक गांव मूलभूत सुविधाओं से मेहरूम है। कितनी ही सरकारें आई और चली गई लेकिन गांव की दशा में किसी ने भी सुधार नहीं किया। यह दुर्भाग्य ही है, जिस गांव ने देश को जांबाज सपूत दिया, उसी के घर पहुंचने के लिए सड़क तक नहीं है। यहां कच्चा रास्ता है, जहां दो दिन पहले हुई बारिश के कारण दो फीट कीचड़ हो रहा है।

BIG Breaking : पुलवामा आतंकी हमले में कोटा का वीर जवान हेमराज मीणा शहीद

विनोदखुर्द गांव से 4 किमी दूर खेत में शहीद का पैतृक घर है। यहां उनके माता-पिता व भाई रहते हैं। यहीं पर ही अंतिम संस्कार किया जाएगा। गुरुवार रात जैसे ही आतंकी हमले में हेमराज के शहीद होने की सूचना मिली तो जनप्रतिनिधियों व गांववासियों का यहां पहुंचना शुरू हो गया, लेकिन रास्ता कच्चा होने केे कारण सड़क पर दो-दो फीट कीचड़ हो रहा है। लोगों को शहीद के घर तक पहुंचने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। लोगों की नाराजगी देखते हुए प्रशासन शुक्रवार तड़के ही सड़क बनाने में जुट गया।...

फोटो - http://v.duta.us/CDYRwgAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/pAG7DwAA

📲 Get Kota News on Whatsapp 💬