[kota] - Pulwama terror attack : पति हेमराज से भी बहादुर निकली पत्नी, नहीं पौंछा शहीद के नाम का सिंदूर...

  |   Kotanews

कोटा. जिस वर्दी को पहन कर कोटा के लाल हेमराज ने मातृभूमि की रक्षा की सौगंध खाई थी, वह उसी को पहने हुए शहीद हो गया। गोलियों और बमों की ताबड़तोड़ बौछार के बावजूद जांबाज ने अपने कदम पीछे खींचना तो दूर लडखड़़ाने तक नहीं दिए। वहीं हजारों किमी दूर सांगोद में बैठी शहीद की पत्नी मधु का हौसला तो पति से भी ज्यादा मजबूत निकला। बुजुर्ग पिता को बेटे और मासूम बच्चों को पिता की शहादत का सदमा न लग जाए... बस यही सोचकर मधु मीणा ने रात भर अपनी मांग का सिंदूर नहीं पौंछा।

शहीद हेमराज के बड़े भाई रामविलास मीणा ने बताया कि सीआरपीएफ के जम्मू कैंप से रात करीब दस बजे मधु के पास फोन आया। जिसमें उन्होंने हेमराज के शहीद होने की खबर दी। रात काफी हो चुकी थी और बच्चे सोने वाले थे। मधु ने ऐसे वक्त में गजब का हौसला दिखाते हुए घर के किसी भी सदस्य को इसकी जानकारी नहीं दी। उन्होंने मुझे फोन कर गांव से बुलाया और सारी बात बताई। मैं मधु की हिम्मत देखकर दंग रह गया और इसके बाद मेरी भी बुजुर्ग पिता या किसी ओर को इस बारे में बताने की हिम्मत नहीं पड़ी। हालांकि लोगों को जैसे-जैसे पता चलता गया। वह खुद घर की ओर दौड़ पड़े।...

फोटो - http://v.duta.us/0sdrJgAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/s4yqLgAA

📲 Get Kota News on Whatsapp 💬