[kushinagar] - गन्ना का उत्पादन घटा, बढ़ी रिकवरी

  |   Kushinagarnews

पडरौना। गन्ना अपनी कुदरती मिठास के लिए हमेशा से सबकी पसंद रहा है, लेकिन अन्य वर्षों के मुकाबले इस साल जिले में चीनी की रिकवरी भी बढ़ी है। यह मुमकिन हुआ है अस्वीकृत प्रजातियों के गन्ने की बुआई बंद कर अगैती गन्ना बोने से। जनपद की चीनी मिलों में इस साल रिकॉर्ड चीनी उत्पादन होने की संभावना जताई जा रही है। हालांकि गन्ना के उत्पादन में 10 से 15 फीसदी की कमी दर्ज की जा रही है।

जनपद की सभी पांच चीनी मिलों में चीनी का उत्पादन बढ़ने के साथ-साथ चीनी परता (प्रति क्विंटल गन्ने से बनने वाली चीनी की मात्रा) भी बढ़ा है। तीस साल पहले तक यहां संचालित पडरौना, कठकुइयां, रामकोला (खेतान), लक्ष्मीगंज, छितौनी, खड्डा, कप्तानगंज, रामकोला (पंजाब) और सेवरही सहित नौ चीनी मिलों में से पांच एक-एक कर बंद हो जाने के बाद किसान उपेक्षित थे। गन्ना के प्रति किसानों की बेरुखी का प्रमुख कारण यह था कि न तो गन्ने का उत्पादन बढ़ाने पर जोर दिया जाता था और न चीनी मिलें समय से गन्ना मूल्य का भुगतान करती थीं। इसके चलते गन्ने की खेती के प्रति किसानों का मोह भंग होने लगा था। लेकिन गन्ना विभाग और चीनी मिलों की तरफ से व्यवस्था में सुधार किए जाने के बाद पिछले पेराई सत्र से गन्ने की खेती के प्रति किसानों की रुचि बढ़ी है।...

फोटो - http://v.duta.us/4F3WKAAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/rt8f6AAA

📲 Get Kushinagar News on Whatsapp 💬