[rewa] - शिक्षक ने जूते और कपड़े कलेक्ट्रेट पर त्याग दिए, बोले भ्रष्ट व्यवस्था के खिलाफ आवाज उठाना जरूरी

  |   Rewanews

रीवा। कलेक्ट्रेट के सामने भ्रष्टाचार पर कार्रवाई की मांग को लेकर धरने पर बैठे शिक्षक ने गुरुवार को हैरान करने वाला कदम उठाया। तीन दिन तक प्रशासन ने जब मांगों पर कार्रवाई नहीं की और कलेक्टर ने धरना समाप्त करने की चेतावनी दे दी। तब शिक्षक मुद्रिका प्रसाद त्रिपाठी ने कपड़े और जूतों का त्याग कर कहा कि अब जीवन पर्यन्त ऐसे ही रहेंगे।

मुद्रिका ने बताया कि शिक्षा विभाग में व्यापक पैमाने पर भ्रष्टाचार हो रहा है, अधिकारियों से शिकायत की जाती है तो वह संरक्षण देने का काम करते हैं। देश बचाओ अभियान संगठन के बैनर तले अनशन किया जा रहा था। कुछ समय पहले शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय कटरा में पदस्थ सहायक ग्रेड तीन वीरेन्द्र सिंह का एक शिक्षक से सेवा पुस्तिका संधारण के नाम पर रिश्वत लेने का वीडियो वायरल हुआ था। उक्त कर्मचारी को निलंबित करने की मांग को लेकर यह आंदोलन शुरू किया गया था। सायं पांच बजे तक कोई कार्रवाई नहीं होने के चलते अनशनकारी शिक्षक मुद्रिका प्रसाद ने ऊपरी वस्त्रों एवं जूतों का त्याग कर विरोध शुरू किया है...

फोटो - http://v.duta.us/8TiT3gAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/vmyegQAA

📲 Get Rewa News on Whatsapp 💬