[roorkee] - बेटियां किसी से कम नहीं, बोझ न समझे: हिना कौसर

  |   Roorkeenews

ब्यूरो/अमर उजाला, रुड़की

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान तथा समग्र शिक्षा अभियान के तत्वावधान में राजकीय प्राथमिक विद्यालय बेडपुर में नुक्कड़ नाटक के माध्यम से बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ का संदेश दिया। कार्यक्रम पर्वतीय रंगमंच एवं सांस्कृतिक समिति परम के रंग कर्मियों ने प्रस्तुत किया।

इस अवसर पर राजकीय प्राथमिक विद्यालय बेडपुर की प्रधानाध्यापक हिना कौसर ने उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि लड़कियों को किसी से कम न समझे। नाटक मंडली के टीम लीडर योगाम्बर पॉली ने बताया कि नाटक का उद्देश्य समाज में कन्या भ्रूण हत्या जैसी सामाजिक कुरीतियों से लोगों को अवगत कराना है। साथ ही लोगों को समझाना है कि बेटी किसी पर बोझ नहीं है। वह भी सामाजिक जीवन का आधार है और बेटियों को भी समान का अधिकार मिलना चाहिए ताकि वह एक सम्मान पूर्ण जीवन व्यतीत कर सके। शिक्षिका सुमन चौहान ने कहा कि जब तक समाज में मां-सास, बेटियों-बहुओं को सकारात्मक सोच की प्रेरणा नहीं देगी, तब तक बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ की भावना विकसित नहीं हो पाएगी। नुक्कड नाटकों के जरिए कलाकारों ने बालिका शिक्षा, कन्या भू्रण हत्या तथा मताधिकार आदि महत्वपूर्ण विषयों के बारे में लोगों को जागरूक किया। बाल मुस्कान सांस्कृतिक क्लब के प्रभारी शिक्षक संजय शर्मा वत्स ने कलाकारों को अभियान के शुभारंभ के तौर पर बालिका की कठपुतली भेंट की। नुक्कड़ नाटक में सुमित कुंवर, सुदीप, पारस रावत, प्रीति रावत, सोनाली रावत शामिल रहे। इस अवसर पर प्रबंध समिति के अध्यक्ष अलाहुद्दीन, अनीता, नितिन कुमार, पंकज, इरफाना, छवि शर्मा, अफसाना, हसीना, अनम, इरफाना, सोनम, पूजा, इशरत जहां आदि मौजूद रहे।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/YpwVKAAA

📲 Get Roorkee News on Whatsapp 💬