[satna] - चित्रकूट अपहरण कांड: भाइयों के इंतजार में पथरा रहीं आंखें, पुलिस का व्यापारिक रंजिश पर फोकस

  |   Satnanews

सतना। स्कूल बस से जुड़वां भाइयों प्रियांश और श्रेयांश के अपहरण को 65 घंटे से ज्यादा हो चुके पर पुलिस के हाथ अभी तक कोई सुराग नहीं लगा है। तीन दिन के इंतजार के बाद परिजनों की आंखें पथरा रही हैं, पिता ब्रजेश मंदिर से लेकर ज्योतिषियों तक चक्कर लगा चुके हैं, वहीं मां और दादी कभी शिवांश और देवांश को दिलासा देती हैं तो कभी खुद को संभालती हैं। पुलिस अधिकारियों ने ऑफ द रेकॉर्ड यह माना कि वे नई थ्यौरी पर फोकस कर रहे हैं।

उनका मानना है कि फिरौती की नीयत से अपहरण करना होता तो दो की जगह अपहरणकर्ता एक बच्चे को ही ले जा सकते हैं। जिस तरीके से दो बच्चों को ले जाया गया है, उससे माना जा रहा कि यह पारिवारिक दुश्मनी या कारोबारी जलन भी हो सकती है। अब डकैत एंगल को पीछे छोड़ पुलिस इन दोनों बातों पर अपनी जांच आगे बढ़ा रही है।...

फोटो - http://v.duta.us/KfKi0wAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/W8GJYAAA

📲 Get Satna News on Whatsapp 💬