[shamli] - नौ साल पूर्व हत्या के मामले में दो को आजीवन कारावास की सजा

  |   Shamlinews

दो हत्यारों को आजीवन कारावास

कैराना (शामली)। नौ साल पहले जमीन की रंजिश में हुई हत्या के मामले में जिला एवं सत्र न्यायाधीश अलका श्रीवास्तव ने दो मुजरिमों को आजीवन कारावास व 10-10 हजार रुपये अर्थदंड की सजा सुनाई। अर्थदंड अदा नहीं करने पर 6-6 माह को अतिरिक्त कारावास भुगतना होगा।

27 जून 2010 की शाम साढ़े खुरगान रोड पर स्थित खेत पर कैराना के मोहल्ला अफगानान निवासी वासिफ उर्फ आसिफ की गोली कर हत्या कर दी गई थी। हत्या के उक्त मामले में मृतक के बड़े भाई मोहम्मद आरिफ ने कैराना थाने पर मुकदमा दर्ज कराया था कि वो दोनो भाई नंगलाराई थाना चरथावल के रहने वाले थे। कैराना निवासी उनकी नानी की पैतृक संपत्ति व जमीन उन्हें मिलने के बाद वो कैराना आकर रहने लगे थे। उनकी नानी का भांजा इकबाल निवासी मोहल्ला खैलकला नई बस्ती थाना कैराना हाल निवासी पानीपत नानी की जमीन उन्हें मिलने के कारण उनसे रंजिश रखता था। वह उनकी जमीन को बेचने का प्रयास करता था। हत्या वाले दिन नानी के भांजे इकबाल ने उसके छोटे भाई वासिफ को फोन करके जमीन दिखाने के लिए घर से खेत पर बुलाया, जहां पर इकबाल के साथ दो व्यक्ति और मौजूद थे। खेत पर पहुंचते ही तीनों ने उसके भाई वासिफ की गोलियां मार कर हत्या कर दी। गोलियों की आवाज सुनकर पड़ोस के मौके पर पहुंचे, तो तीनों हत्यारोपी वहां से भाग गए। इस मामले में पुलिस ने इकबाल निवासी खैलकला नई बस्ती कैराना व दो अज्ञात के विरुद्ध मुकदमा दर्ज करके जांच शुरू कर दी। गहन विवेचना के बाद पुलिस ने इकबाल व गुरविंदर उर्फ लख्खी निवासी, कासली विहार कालोनी यमुना नगर हरियाणा व मोहसिन निवासी तीतरवाडा थाना कैराना के विरुद्ध अदालत में चार्जशीट दाखिल कर दी थी। गुरविन्दर के फरार चलने के कारण उसकी पत्रावली अलग कर दी गई थी। मामले में अभियोजन पक्ष की ओर से छह गवाह पेश किए गए। बृहस्पतिवार को अदालत ने मुजरिम इकबाल, निवासी खैलकला नई बस्ती कैराना व मोहसिन निवासी तितरवाड़ा को आजीवन कारावास व 10-10 हजार रुपये अर्थदंड की सुजा सुनाई। अर्थदंड अदा नही करने पर 6-6 माह का अतिरिक्त कारावास भुगतना होगा। जिला शासकीय अधिवक्ता ( फौजदारी ) संजय चौहान व सहायक जिला शासकीय अधिवक्ता अशोक पुंडीर ने पैरवी की।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/X313agAA

📲 Get Shamli News on Whatsapp 💬