[ajmer] - गुर्जर आरक्षण आंदोलन: रोका अजमेर-पुष्कर बाइपास, पुलिस ने संभाला मोर्चा

  |   Ajmernews

अजमेर. आरक्षण की मांग को लेकर गुर्जर समाज फिर आंदोलन की राह पर निकल पड़ा है। आंदोलन के अगुवा कर्नल किरोड़ीसिंह बैंसला के फैसले पर शुक्रवार को जिले के तमाम गुर्जर बहुल गांवों में गुर्जर समाज के नेताओं की बैठक हुई जिसमें रसद सामग्री और आंदोलन की रूपरेखा पर विचार विमर्श किया गया।

शहर के निकटवर्ती गांव नारेली में गुर्जर समाज के प्रतिनिधि जुटे। बैठक में बच्चे, बूढ़े, महिलाएं शामिल हुई। महिलाएं व पुरुष फरसे, लाठी, सरिए साथ लिए हुए थे। गुर्जर समाज जुटने की सूचना मिलते ही पुलिस जाप्ता नारेली पहुंच गया।

अजमेर में नारेली है केन्द्र

नारेली में आंदोलन के लिए जुटने की वजह आसपास करीब दस गुर्जर बहुल गांवों का होना है, जो महज 5 से 10 किमी के रेडियस में मौजूद है। यहां से दिल्ली-अहमदाबाद राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 8 और राजमार्ग 79 के साथ अजमेर-दिल्ली रेल लाइन भी मौजूद है। इसके अलावा अजमेर शहर से निकटता भी मूल वजह है।...

फोटो - http://v.duta.us/-oByUAAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/-j2BtgAA

📲 Get Ajmer News on Whatsapp 💬