[allahabad] - कुंभ 2019: शाह के आगमन से पहले बढ़ी अखाड़ों में हलचल, राजनीतिक अखाड़ा बना विहिप का शिविर

  |   Allahabadnews

जैसे जैसे भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के आगमन की तारीख नजदीक आ रही है, वैसे अखाड़ों के बीच हलचल तेज हो गई है। अखाड़ों और कई महामंडलेश्वर के साथ शाह को लेकर लंबी चर्चा भी हुई है। कहा जा रहा है कि अमित शाह की अखाड़ों के साथ भी मुलाकात का क्रम बनाया गया है। इसमें अखाड़ा परिषद के साथ कई प्रमुख संंत भी मौजूद रहेंगे।शासन की तरफ से अभी तक अमित शाह के आने का प्रोटोकॉल जारी नहीं हुआ है लेकिन वह 13 फरवरी को यहां आएंगे ऐसी सूचना है।

संगम में डुबकी लगाने के बाद अमित शाह अक्षय वट के दर्शन भी करेंगे। इसके बाद अखाड़ों और संतों से मिलने का उनका क्रम शुरू होगा। अखाड़ा परिषद के साथ उनकी अयोध्या में राम मंदिर मुद्दे पर वार्ता होगी। बताया जा रहा है कि शाह इस दौरान संतों से मंदिर निर्माण से पहले केंद्र में मोदी सरकार को दुबारा लाने के लिए किस तरह से रणनीति बनाई जाए इस पर भी संतों के साथ चर्चा करेंगे। पता चला है कि इस बार के लोकसभा चुनाव में संतों की भूमिका को भाजपा विशेष तरजीह दे रही है। अमित शाह जिन प्रमुख संतों से मिल सकते हैं, उसमें स्वामी अवधेशानंद गिरी, परमार्थ निकेतन के प्रमुख चिदानंद मुनि, पूर्व गृहराज्य मंत्री स्वामी चिन्मयानंद, स्वामी हंसदेवाचार्य के अलावा शंकराचार्य वासुदेवानंद सरस्वती का नाम शामिल है।...

फोटो - http://v.duta.us/WuxJigAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/Em_K1AAA

📲 Get Allahabad News on Whatsapp 💬