[bihar] - मांझी की नैया 'डूबना' महागठबंधन में दरार का संकेत है !

  |   Biharnews

बीते 6 फरवरी को बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी की पार्टी हिन्दुस्तानी आवाम मोर्चा में अचानक भगदड़ मच गई. पहले राष्ट्रीय प्रवक्ता दानिश रिजवान ने पार्टी से इस्तीफा दिया, फिर प्रदेश अध्यक्ष वृषिण पटेल ने पार्टी को बाय-बाय कह दिया. इतना ही नहीं आईटी सेल के अध्यक्ष राजेश गुप्ता और किसान सेल मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष बेला यादव के साथ हम पार्टी के प्रदेश युवा अध्यक्ष सुभाष चंद्र वंशी ने भी पार्टी छोड़ दी है. मांझी की अनुपस्थिति में इस भगदड़ के सियासी मायने निकाले जा रहे हैं.

माना जा रहा है कि महागठबंधन में मांझी को हाशिये पर धकेल दिया गया है और उन्हें कोई खास तवज्जो नहीं मिल रही है. ऐसे में तेजस्वी यादव के ममता बनर्जी के धरने के समर्थन के उलट मांझी ने ममता की आलोचना की. इतना ही नहीं सवर्ण आरक्षण पर भी पार्टी ने आरजेडी से अलग स्टैंड रखा. ऐसे में कयास लगाए जा रहे हैं कि मांझी की दावेदारी को कमजोर करने की ये एक एक कवायद हो सकती है....

फोटो - http://v.duta.us/91JD-AAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/0ISO3AAA

📲 Get Bihar News on Whatsapp 💬