[bilaspur] - आजीवन कारावास की सजा पूरी कर चुके कैदियों को जेल से रिहाई के आदेश

  |   Bilaspur-Chattisgarhnews

बिलासपुर. सीजे अजय कुमार त्रिपाठी एवं जस्टिस पीपी साहू की युगलपीठ ने गुरुवार को आजीवन कारावास की सजा पूरी कर चुके कैदियों की रिहाई के संबंध में बड़ा आदेश दिया है। गुरुवार को मामले की सुनवाई के बाद युगलपीठ ने पुलिस महानिदेशक जेल को उन कैदियों की डाटा बेस की जानकारी राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के साथ शेयर करने को कहा है, ताकि कैदियों की रिहाई का मार्ग प्रशस्त हो सके। साथ ही अगले चार सप्ताह के अंदर सजा पूरी कर चुके कैदियों की रिहाई प्रक्रिया के संबंध में क्या निर्णय लिया गया और कितने कैदियों की रिहाई की गई। इस संबंध में भी जानकारी देने को कहा है। आजीवन कारावास की सजा पूरी करने के बाद भी प्रदेश की केंद्रीय जेलों में 17 सौ से अधिक कैदियों की रिहाई नहीं होने पर बिलासपुर के अमरनाथ पांडेय ने हाईकोर्ट में याचिका लगाई है। याचिका में बताया गया है कि 14 वर्ष की सजा पाए कैदियों की रिहाई 20 से 25 वर्षों के बाद भी नहीं हो पाई है। इन कैदियों की फरियाद सुनने वाला कोई नहीं है और विधिक सहायता उपलब्ध नहीं होने के कारण रिहाई के लिए कहां अपील करें, इस संबंध में उन्हें जानकारी नहीं है। सजा पूरी किए गए कैदियों की रिहाई की व्यवस्था की जाए। हाईकोर्ट ने मामले की प्रारंभिक सुनवाई के बाद राज्य शासन से आजीवन कारावास की सजा पूरी कर चुके कैदियों की संख्या बताने के निर्देश दिए। साथ ही ये भी कहा गया कि इन कैदियों की रिहाई के संबंध में क्या कदम उठाए जा रहे हैं। राज्य शासन द्वारा इस संबंध में जवाब प्रस्तुत किए जाने के बाद सीजे की युगलपीठ ने राज्य के पुलिस महानिदेशक जेल को कहा है कि उन तमाम कैदियों से संबंधित डाटा बेस की जानकारी राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण को उपलब्ध कराए, ताकि इन कैदियों को विधिक सहायता उपलब्ध करा रिहाई की व्यवस्था की जा सके। मामले की आगामी सुनवाई चार सप्ताह बाद होगी।

फोटो - http://v.duta.us/6whpZAAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/KOe5jwAA

📲 Get Bilaspur-Chattisgarhnews on Whatsapp 💬