[devgarh] - सारवां : धुएं तक सिमट गयी सारवां के लौह कारीगरों की जिंदगी

  |   Devgarhnews

सारवां : प्रशासनिक उपेक्षा व सुविधाओं के अभाव में सारवां के महतोडीह मडैया टोला के लौह कारीगर बदहाल जिंदगी जीने को मजबूर हैं. परिवार का पेट पालने व अपने बच्चों का भविष्य संवारने के लिए दिन भर आग की भट्ठी में लोहे के साथ अपना शरीर तपाना इनकी जिंदगी का हिस्सा बन गया है.

कांटी से लेकर लोहे के सभी सामान बनाने वाले इन कारीगरों की जिंदगी काले धुएं तक ही सिमट कर रह गयी है, जहां अंधेरे के सिवाय कुछ भी नहीं है. इन लौह कारीगरों को अबतक सुविधाएं नहीं मिल पायाी है. लोहे को अलग-अलग रूपों में ढालने के बाद भी लोहे के सामानों की सही कीमत नहीं मिल पा रही है....

फोटो - http://v.duta.us/YWpWhQAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/bPWB0AAA

📲 Get Devgarh News on Whatsapp 💬