[jodhpur] - पुलिस ने निकाली बाल से खाल, खुद के जाल मेंं ही फंस गया शातिर

  |   Jodhpurnews

जोधपुर.

अपराधी कितना भी शातिर क्यों न हों, वो कोई न कोई सबूत पीछे छोड़ता ही है। यह कहावत लेडी डॉन के बंगले पर हमला कर तोड़-फोड़ व आग लगा दहशत फैलाने के आरोपी पूर्व सरपंच व हिस्ट्रीशीटर पर सटीक साबित हो रही है। उसने पुलिस की आंखों में धूल झोंकने की भरसक कोशिश की थी। उसने वारदात से पहले उन्हीं तौर-तरीकों को अपनाया, जिनसे पुलिस किसी भी अपराधी तक पहुंचने के लिए प्राय: काम लेती है।

आरोपी पूर्व सरपंच ने वारदात से पहले अपना मोबाइल किसी परिचित के साथ दिल्ली भेज था और फिर वारदात को अंजाम दिया था। ताकि पुलिस की जांच में मोबाइल के आधार पर उसकी लोकेशन दिल्ली में आए और बच निकले, लेकिन वह बच नहीं पाया। सीसीटीवी कैमरे तोड़े, लेकिन उन्हीं से फंसा देचू थानान्तर्गत बारनाऊ गांव निवासी पूर्व सरपंच व हिस्ट्रीशीटर पोलाराम जाट ने वारदात को अंजाम देने के लिए पोलाराम ने पूरी साजिश रची थी।...

फोटो - http://v.duta.us/hfVFJgAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/lpHKlAAA

📲 Get Jodhpur News on Whatsapp 💬