[kaushambi] - रात में बारिश के बाद दिनभर नहीं निकली धूप

  |   Kaushambinews

बारिश के बाद दिनभर नहीं निकली धूप

बारिश होने के बाद सहालग वाले घरों में बढ़ी परेशानी

ठंड बढ़ने से भरपूर पैदावार की उम्मीदें बढ़ी, किसान गदगद

मंझनपुर। फरवरी माह में दूसरी बार हुई बेमौसम बरसात ने फसलों की भरपूर पैदावार की उम्मीदें बढ़ा दी हैं। गुरुवार की रात में बारिश के बाद शुक्रवार को दिन भी धूप नहीं निकलने से मौसम सर्द रहा। उधर सहालग वाले घरों में तैयारी पर बारिश का असर साफ देखने को मिला।

मकर संक्रांति के बाद सूर्य जैसे ही मकर राशि में प्रवेश किया भगवान भाष्कर की किरणें अपना असर दिखाना शुरू कर दिया था। जनवरी माह के अंत तक चटख धूप होने के चलते दिन की सर्दी गायब हो गई थी। सुबह और शाम ही लोगों के बदन पर गर्म कपड़े दिखाई पड़ रहे थे। लेकिन फरवरी माह के शुरू होते ही मौसम का मिजाज बदला और बेमौसम बरसात हुई। इससे किसानों ने राहत की सांस ली। सप्ताह भर बाद गुरुवार की सुबह से रात भर रह-रहकर जिले भर में हुई बारिश से किसानों के चेहरे खिल उठे। शुक्रवार की सुबह से शाम तक दिन भर भगवान भाष्कर बादलों के बीच छिपे रहे। इससे ठंड का असर दिन में भी देखने को मिला। मौसम के बदले मिजाज और हुई बारिश के चलते अब गेहूं, चना, मटर, अरहर व असिंचित क्षेत्रों में बोई गई फसलों में भरपूर पैदावार की उम्मीदें बढ़ गई हैं। किसानों का मानना है कि सप्ताह भर में दो बार हुई बारिश के चलते नमी के आभाव में नष्ट हो रही फसलों को जीवनदान मिला है। दूसरी ओर बारिश के चलते सहालग वाले घरों में अव्यवस्था हो गई है। शादी समारोह को लेकर कराई जा रही सजावट, सफाई पर बारिश के चलते पानी फिर गया है। दरवाजे पर कीचड़ होने से शादी-ब्याह वाले घरों के मुखिया के माथे पर चिंता की लकीरें साफ दिख रही हैं। सबसे अधिक परेशान उन मुखिया की है जिनके घरों में नौ फरवरी को शादी है। मौसम के बदले मिजाज से सहालग वाले घरों के मुखिया हैरान-परेशान हैं।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/xFy9YgAA

📲 Get Kaushambi News on Whatsapp 💬