[khandwa] - 'कोमल थे तब से जुड़े, अब अनंत यात्रा पर 'भाऊ

  |   Khandwanews

खंडवा. अवधूत संत धूनीवाले दादाजी के धाम के मौन सेवक और पटेल सेवा समिति के प्रमुख कोमल भाऊ आखरे नहीं रहे। जब वे 'कोमलÓ यानी बालक थे, तब दरबार से जुड़े थे और सेवारत रहते उन्होंने भाऊ की उपाधि हासिल कर अनंत यात्रा को चुना। दरबार के सामने पटेल सेवा समिति नाम से जीवन पर्यंत सेवारत कोमलभाऊ आखरे का गुरुवार शाम निधन हो गया। वे बीते कुछ दिनों से अस्वस्थ थे, उनका नागपुर के निजी अस्पाताल में इलाज चल रहा था। दो दिन पूर्व ही उन्हें वेंटीलेटर से उतारकर खंडवा लाया गया था, वे यहां निजी अस्पताल में उपचाररत थे। शाम करीब 6 बजे उन्होंने अंतिम सांस ली। उनके निधन की खबर मिलते ही अनुयायियों को बड़ा सदमा लगा।...

फोटो - http://v.duta.us/DLQomAAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/jpQKNgAA

📲 Get Khandwa News on Whatsapp 💬