[korba] - एशिया की सबसे बड़ी कोयला खदान खनन और डिस्पैच में पिछड़ा, कोल सचिव और चेयरमैन पहुंचे

  |   Korbanews

कोरबा. एशिया की सबसे बड़ी कोयला खदान उत्पादन संकट से जूझ रही है। खदान से लक्ष्य के अनुसार कोयला खनन नहीं हो रहा है। इससे दिल्ली तक हड़कंप मचा हुआ है। कोल सचिव सुमंत चौधरी, संयुक्त सचिव आशीष उपाध्याय और कोल इंडिया के चेयरमैन एके झा गेवरा पहुंचे हैं। शुक्रवार को तीनों अफसर एसईसीएल सीएमडी एपी पंडा के साथ गेवरा, दीपका और कुसमुडा खदान का निरीक्षण करेंगे। अफसरों के दौरे का मकसद खदान से उत्पादन और कोयला डिस्पैच बढ़ाना है।

गेवरा पहुंचने से पहले कोल सचिव सहित तीनों अफसरों ने रायपुर में प्रदेश के मुख्य सचिव के साथ बैठक की। इसमें प्रस्तावित खदानों को चालू करने और चल रही खदान से उत्पादन बढ़ाने में आ रही अड़चन पर चर्चा की गई। दोपहर बाद तीनों अफसर बिलासपुर मुख्यालय पहुंचे। सीएमडी के साथ बैठक की। इसमें उत्पादन और डिस्पैच बढ़ाने पर जोर दिया गया। सीएमडी पंडा ने पावर प्वाइंट प्रेजेन्टेशन के जरिए कम्पनी की गतिविधियों एवं वित्तीय वर्ष 2018-19 के लक्ष्य प्राप्ति की दिशा में अब तक एसईसीएल के प्रयास एवं उपलब्धियों की जानकारी दी।...

फोटो - http://v.duta.us/Auff2wAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/o_3Z5wAA

📲 Get Korbanews on Whatsapp 💬