[ashoknagar] - करीला की दो सड़कें एक साल से स्वीकृत, शासन से राशि नहीं मिली तो नहीं हो सका निर्माण

  |   Ashoknagarnews

अशोकनगर. करीला के रंगपंचमी मेले के लिए मात्र 19 दिन ही शेष बचे हैं। तीनों पहुंच मार्ग एक साल पहले स्वीकृत हो चुके थे और करीब आठ महीने पहले टेण्डर भी हो गए। लेकिन शासन से राशि नहीं मिली तो करीला के इन पहुंच मार्गों का निर्माण नहीं हो सका। इससे अब पीडब्ल्यूडी ने जर्जर सड़कों को उखाड़कर 10 मीटर चौड़ाई में सड़कों का बेसमेंट कार्य करा दिया है और अब इन्हीं रास्तों से मेले के समय श्रद्धालुओं से हजारों वाहनों को निकाला जाएगा।

मां जानकी मंदिर करीला में 24 मार्च से तीन दिवसीय मेला शुरू हो जाएगा और 15 से 20 लाख श्रद्धालुओं के इस मेले में पहुंचने का अनुमान है। लेकिन इस बार करीला पहुंचने के लिए वाहनों को कच्चे रास्ते से होकर निकलना पड़ेगा। शासन ने दिसंबर 2017 में तीनों पहुंच मार्गों का निर्माण स्वीकृत कर दिया था और इनके टेण्डर भी हो गए थे। इससे निर्माण कंपनी ने जर्जर हो चुके बंगलाचौराहा-बामौरी शाला मार्ग को उखाड़कर बेसमेंट का काम शुरू कर दिया था। इससे विभाग ने भी मेले से पहले सड़कें तैयार कराने का लक्ष्य रखा था, लेकिन बंगलाचौराहा-बामौरीशाला मार्ग और वीआईपी मार्ग के निर्माण के लिए तो शासन से अब तक एक भी रुपए की राशि नहीं मिल सकी।...

फोटो - http://v.duta.us/UUoRbwAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/unQnVQAA

📲 Get Ashoknagar News on Whatsapp 💬