[narsinghpur] - धूल से नाक में दम, रोड न बनाने से लडख़ड़ाते हैं कदम

  |   Narsinghpurnews

नरसिंहपुर। रेलवे ओवरब्रिज का धीमी गति और मनमाने तरीके से निर्माण कार्य क्षेत्र के लोगों के लिए समस्या बन गया है। ब्रिज के निर्माण कार्य में जहां सुरक्षा संबंधी उपायों पर ध्यान नहीं दिया जा रहा है वहीं एप्रोच रोड न बनाने और धूल का इंतजाम न किए जाने से लोगों की नाक में दम हो गया है । लोग श्वास व फेफड़े संबंधी बीमारियों का शिकार हो रहे हैं।

रेलवे फाटक पर लगने वाले जाम के कारण आवागमन अवरुद्ध होने को ध्यान में रखते हुए सिंहपुर चौराहा बरगी फाटक पर रेलवे ओवर ब्रिज का निर्माण कार्य शुरू कराया गया था। लेकिन एक साल से ज्यादा समय बीत जाने के बावजूद ठेकेदार द्वारा नियमानुसार कार्य कराने पर ध्यान नहीं दिया जा रहा है । यहां कार्य करते समय पानी का छिडक़ाव लगातार जरूरी है ताकि धूल न उड़े और इससे लोग बीमार न हों लेकिन यहां पानी का छिडक़ाव पूरी तरह से बंद है। जिसकी वजह से धूल की समस्या के चलते लोगों का यहां रहना मुश्किल हो गया है और लोग स्वास्थ्य संबंधी बीमारियों का शिकार हो रहे हैं । गौरतलब है कि रोड के निर्माण के लिए जगह जगह से सडक़ खोद दी गई है और लोगों के आवागमन के लिए उचित व्यवस्था नहीं की गई है जिसकी वजह से लोगों को आन जाने में भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। निर्माण कार्य के दौरान श्रमिकों की सुरक्षा और राहगीरों की सुरक्षा के लिए भी सुरक्षा इंतजामों पर ध्यान नहीं दिया जा रहा है । कार्य के दौरान यहां न तो श्रमिकों को हेलमेट उपलब्ध कराए जा रहे हैं और न ही ऊंचाई से गिरने पर उनकी सुरक्षा के लिए नेट आदि की व्यवस्था की गई है। गौरतलब है कि करीब एक साल पहले कटनी से यहां काम करने आए एक श्रमिक की ऊंचाई से गिरने के कारण दर्दनाक मौत हो गई थी । श्रमिक को सुरक्षा संबंधी कोई उपकरण उपलब्ध नहीं कराए गए थे जिसकी वजह से हादसा हुआ था । इसके बावजूद सुरक्षा पर कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है।...

फोटो - http://v.duta.us/QVAtxQAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/p11XpwAA

📲 Get Narsinghpur News on Whatsapp 💬