[alirajpur] - अधिकांश हैंडपंप सूखे, कई में जल स्तर नीचे उतरा, जल संकट में आदिवासी क्षेत्र

  |   Alirajpurnews

आम्बुआ. ग्राम पंचायत मोटाउमर की चिचानिया फलिया में पेयजल समस्या गहरा रही है। वहां के अधिकांश जल स्रोत सूख गए हैं या फिर जलस्तर नीचे चले जाने के कारण हैंडपंपों ने जवाब दे दिया। ग्रामीणों को पानी की दिन ब दिन विकराल होती जा रही समस्या के कारण भारी परेशानी उठाना पड़ रही है। इस समस्या से क्षेत्रीय विधायक कलावती भूरिया को 4 अप्रैल को ग्रामीणों ने अवगत कराया। इसके 8 अप्रैल को विभागीय अधिकारियों ने वहां का निरीक्षण किया तथा अविलंब समस्या हल करने की बात कही।

उदयगढ़ विकास खंड की ग्राम पंचायत मोटाउमर की चिचानिया फलियां में जल स्तर नीचे चले जाने के कारण कई हैंडपंप बंद पड़े हैं। यहां स्थित तालाब भी इस वर्ष कम वर्षा के कारण जल संग्रहण नहीं होने के कारण सूख गया। इस कारण जानवरों को भी पीने का पानी नहीं मिल रहा है। यहां का एक स्थानीय युवक सरपु बघेल जिसका निजी ट्यूबबेल है, नि:शुल्क पेयजल उपलब्ध करा रहा है। यह ट्यूबवेल भी कुछ समय चलने के बाद बंद हो जाता है। कुछ घंटों के इंतजार के बाद पुन: जल प्रदाय किया जाता है। सरपु बघेल तथा अन्य ग्रामीणों ने 4 अप्रैल को क्षेत्र विधायक कलावती भूरिया को ग्राम मोडुडिया में आयोजित होली मिलन कार्यक्रम के दौरान अवगत कराया। विधायक ने विभागीय अधिकारियों से टेलीफोन पर चर्चा कर स्थिति देखने की बात कही। चिचानिया में मौका मुआयना करने आए पीएचई विभाग के जिला अधिकारी साल्वे एवं नवल सिंह भूरिया ने बताया, हैंडपंप में पाइप बढ़ाए जाना है, ताकि नीचे से पानी ऊपर आ सके। सभी बंद पड़े हैंडपंपों की नाप-माप कराई जा कर यह देखा जाएगा कि पानी की स्थिति क्या है। यदि पाइप डालने की स्थिति होगी तो पाइप डालकर समस्या का हल निकाला जाएगा, अन्यथा कोई अन्य व्यवस्था की जाएगी। चूंकि जिला स्तर के अधिकारी ने स्वयं स्थिति देखी है, इस कारण ग्रामीणों को उम्मीद बढ़ी है कि शीघ्र व्यवस्था होगी। हालांकि क्षेत्र में सबसे बड़ी समस्या जानवरों के लिए पानी की है। बताते हैं कि एक जानवर की मृत्यु भी इसी कारण हो चुकी है।...

फोटो - http://v.duta.us/3dkwuQAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/FMKxQAAA

📲 Get Alirajpur News on Whatsapp 💬