[uttar-pradesh] - ANALYSIS: 15 लोकसभा सीटों पर इस तरह बीजेपी को फायदा पहुंचा सकते हैं शिवपाल

  |   Uttar-Pradeshnews

बॉलीवुड का एक मशहूर गीत 'शीशा हो या दिल हो, टूट जाता है' दिल्ली से लगभग 300 किलोमीटर दूर ग्लास सिटी फिरोजाबाद में वर्तमान राजनीतिक स्थितियों का वर्णन करता है. इस शहर में ग्लास की अनगिनत फैक्ट्री हैं. 'यादव लैंड' के रूप में पहचाने जाने वाले फिरोजाबाद और आसपास के क्षेत्रों में इस बार चाचा शिवपाल यादव और भतीजे अखिलेश यादव के बीच संबंधों में खटास आ गई है.

शिवपाल यादव जहां अपने भतीजे और फिरोजाबाद के मौजूदा सांसद अक्षय यादव को हराने के लिए दिन-रात चुनाव प्रचार में व्यस्त हैं. वहीं एटा, इटावा, संभल और बदायूं जैसी कई अन्य सीटों पर भी शिवपाल यादव की पार्टी प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) समाजवादी पार्टी के ओबीसी वोट बैंक में सेंध लगाकर सपा-बसपा गठबंधन की हार सुनिश्चित करने की कोशिश कर रही है....

फोटो - http://v.duta.us/s0iGQwAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/JJveVAAA

📲 Get UttarPradesh News on Whatsapp 💬