[muzaffarnagar] - मलेरिया के लिए हाईरिस्क है खादर इलाका

  |   Muzaffarnagarnews

मलेरिया के लिए हाईरिस्क है खादर इलाका

मुजफ्फरनगर। गर्मियां शुरू होते ही मच्छरों का प्रकोप शुरू हो गया है और इसके साथ ही मलेरिया के फैलने की आशंका भी बढ़ गई है। जिले में गंगा और सोलानी नदी का खादर मलेरिया को लेकर हाईरिस्क इलाका है। इन क्षेत्र के साथ ही पूरे जिले में कीटनाशकों के छिड़काव का काम शुरू किया जाएगा और बुखार के मरीजों की रक्त पट्टिकाएं भी बनाई जाएंगी।

विभागों के अधिकारी और कर्मचारी अब चुनाव ड्यूटी से फारिग हो चुके हैं। इसलिए विभागीय काम शुरू हो गया है। स्वास्थ्य महकमे के लिए इस दिनों सबसे बड़ा काम मलेरिया की रोकथाम का है। सोलानी और गंगा खादर के क्षेत्र में रहने वाली करीब 60 हजार की आबादी मलेरिया के लिहाज से संवेदनशील है। इसलिए इसे तरजीह देते हुए पूरे जिले में मलेरिया रोकथाम के लिए अभियान शुरू किया जाएगा। ग्राम प्रधानों के माध्यम से गांवों में कीटनाशकों का छिड़काव कराया जाएगा। स्वास्थ्य विभाग कीटनाशक उपलब्ध कराएगा और छिड़काव की व्यवस्था ग्राम प्रधान कराएंगे। आशाओं को प्रशिक्षित किया गया है कि वे अपने क्षेत्र में बुखार से पीड़ित मरीजों की रक्त पट्टिकाएं बनाकर सीएचसी और पीएचसी पर उनकी जांच कराएं। जिला मलेरिया अधिकारी अलका सिंह ने बताया कि फरवरी माह में संचारी रोग नियंत्रण पखवाड़े के अंतर्गत जिले में विभागों की समन्वय समिति का गठन किया गया था। इस समिति में स्वास्थ्य विभाग नोडल है और नगर पालिका, पंचायती राज विभाग साफ-सफाई की व्यवस्था के लिए शामिल है। इसके अलावा शिक्षा विभाग की जिम्मेदारी जागरूकता फैलाने की है।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/UZ8X4QAA

📲 Get Muzaffarnagar News on Whatsapp 💬