ब्रिटिश 🇬🇧 प्रशासन, इंटरपोल को धोखा देकर रद्द भारतीय 😧पासपोर्ट पर अमेरिका घूम आया 😝नीरव मोदी

  |   Hindiworldnews

13000 करोड़ के गबन का आरोपी हीरा व्यवसायी नीरव मोदी ब्रिटिश प्रशासन और इंटरपोल को धोखा देकर फरवरी महीने में अमेरिका घूमने गया था। ऐसा उसने तब किया जब उसके नाम पर इंटरपोल का रेड कॉर्नर नोटिस जारी है। नीरव मोदी की अमेरिका यात्रा से भारतीय एजेंसियों ने ब्रिटिश प्रशासन की कार्यप्रणाली पर आपत्त‍ि जताई है।ब्रिटिश प्रशासन ने पूछा गया कि इंटरपोल के रेड कॉर्नर नोटिस और रद्द पासपोर्ट के बावजूद उसे अमेरिका यात्रा की अनुमति कैसे मिली।

नियमानुसार, जब भी किसी के नाम पर रेड कॉर्नर नोटिस जारी होता है, तब उसे किसी भी देश की इमीग्रेशन अफसर हिरासत में ले सकते हैं। हालांकि अभी तक यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि नीरव मोदी कैसे अमेरिका गया। भारतीय एजेंसियों के पास नीरव मोदी की यात्रा की विस्तृत जानकारी है। इसमें उसका टिकट भी है। इन दस्तावेजों का उपयोग बतौर सबूत तब किया जाएगा जब वह कोर्ट में जमानत के लिए अर्जी डालेगा।

वेस्टमिंस्टर कोर्ट ने नीरव मोदी को 26 अप्रैल तक जेल भेज दिया है। भारतीय एजेंसियां लगातार इस प्रयास में हैं कि ब्रिटेन से नीरव मोदी का प्रत्यर्पण कर उसे भारत लाया जाए! बता दें कि नीरव मोदी को 19 मार्च में लंदन में गिरफ्तार कर लिया गया था। लंदन की अदालत में उसके प्रत्यर्पण का मुकदमा चल रहा है।

यहां पढ़ें पूरी खबर-http://v.duta.us/Pvc3YAAA

📲 Get विश्व समाचार on Whatsapp 💬