[ranchi] - चालीसा का पुण्यकाल - 27 : जीवन का मूल्य समझें, ईश्वर की इच्छानुसार जीवन बितायें

  |   Ranchinews

एक युवक अपने जीवन से हताश था. उसकी जिंदगी में कुछ भी ठीक नहीं चल रहा था. जिंदगी बोझ लगने लगी थी. निराश होकर उसने अपनी जिंदगी को खत्म करने का निश्चय किया और एक नदी के किनारे चला गया.

वह नदी में कूदने ही वाला था कि एक बुजुर्ग ने उसे पीछे से पकड़ लिया और खींच कर नदी से दूर ले गया. बुजुर्ग ने पूछा कि वह मरना क्यों चाहता है? लड़के ने उदास स्वर में अपनी पूरी कहानी सुनायी़

कुछ देर बाद बुजुर्ग ने कहा- यदि ऐसी बात है, तो तुम्हें मर ही जाना चाहिए. पर मरने के पहले मैं तुम्हारी कुछ मदद करना चाहता हूं. मैं तुम्हें पांच लाख रुपये दे सकता हूं....

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/CrnpvAAA

📲 Get Ranchi News on Whatsapp 💬