[alwar] - 13 दिन में ही लंगड़ाने लगा सरिस्का का नया राजा, नए बाघ के प्रति पर्यटकों में आकर्षण ज्यादा होने से समस्या

  |   Alwarnews

अलवर. रणथंभौर से बाघ लाए अभी 13 दिन ही हुए कि सरिस्का का नया राजा पैर से लंगड़ाने लगा है। बाघ के लंगडाने का कारण नए बाघ के प्रति पर्यटकों में बढ़ता आकर्षण है। लंबे प्रयास के बाद गत 15 अप्रेल को रणथंभौर से बाघ टी-75 को सरिस्का लाया गया। करीब पौने सात साल आयु एवं 200 किलो वजनी यह बाघ सरिस्का पहुंचने के दौरान पूरी तरह स्वस्थ था। यही कारण है कि सरिस्का में पिंजरे का गेट खोलने के बाद वह छलांग लगाकर एनक्लोजर में कूद गया। करीब एक सप्ताह एनक्लोजर में रहने के बाद वह गत 22 अप्रेल की सुबह जंगल की ओर कूच कर गया। शुरू में बाघ क्रास्का के जंगल में घूमा बाद में एनक्लोजर के निकट आकर सरिस्का की बाघिन एसटी-2 के साथ घुल मिल गया।...

फोटो - http://v.duta.us/bQRkEgAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/biqNfwAA

📲 Get Alwar News on Whatsapp 💬