[baghpat] - जर्जर तारों से निकाली चिंगारी से 48 बीघा गेहूं की फसल जली

  |   Baghpatnews

बागपत। बालैनी थाना क्षेत्र के मुकारी गांव में बिजली के तारों में स्पार्किंग होने के कारण छह किसानों की करीब 48 बीघा गेहूं की फसल जल गई। ग्रामीणों ने घंटे की मशक्कत के के बाद आग पर काबू पाया गया। किसानों का आरोप है कि सूचना देने के बावजूद दमकल विभाग की गाड़ी मौके पर नहीं पहुंची। प्रशासन से हस्तक्षेप कर पीड़ितों को मुआवजा दिलाने की मांग।

रविवार सुबह छह किसानों को अपनी गेहूं की पकी पकाई फसल से हाथ धोना पड़ा। सुबह करीब नौ बजे मुकारी गांव के जंगल में बिजली के तारों में स्पार्किंग हो गई। तारों से चिंगारी निकली तो गेहूं की फसल में गिर गई। इसके बाद फसल धूं-धूंकर लगने लगी। आग को देखते ही किसान मौके पर पहुंचे। नलकूपों से पानी भरकर आग को बुझाने का प्रयास, लेकिन आग ने विकराल रूप धारण कर लिया । धीरे-धीरे बढ़ रही आग ने देखते ही देखते 48 बीघा गेहूं की फसल को अपनी चपेट में ले लिया। खेतों में केवल राख के ढेर ही नजर आ रहे थे। इसकी सूचना फायर ब्रिगेड को भी दी, लेकिन कोई मौके पर नहीं पहुंचा। ग्रामीणों ने ही मशक्कत कर आग पर काबू पाया। आग से बसपा सरकार में मंत्री रहे राजपाल त्यागी और उनके भाई यशपाल, तेजपाल और लोकेश, मेघनाथ, और देवशरण की करीब 48 बीघा गेहूं की फसल जली है। किसानों का कहना है कि विद्युत की जर्जर लाइन से यह नुकसान हुआ है। कई बार बिजली अधिकारियों से इसकी शिकायत कर चुके हैं, लेकिन समाधान नहीं हो रहा है। इसका खामियाजा किसानों को भुगतना पड़ा। आग लगने से किसानों को कई लाख रुपये का नुकसान पहुंचा है। जिला प्रशासन से पीड़ित किसानों ने मुआवजे की मांग की।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/VDSkigAA

📲 Get Baghpat News on Whatsapp 💬