[bijnor] - मारपीट का बदला लेने के लिए साथियों की थी दीपांशु की हत्या

  |   Bijnornews

मारपीट का बदला लेने के लिए साथियों की थी दीपांशु की हत्या

बिजनौर। नजीबाबाद में चार दिन पहले पहले हुए दीपांशु हत्याकांड का पुलिस ने रविवार को खुलासा कर दिया। पुलिस के मुताबिक दीपांशु की हत्या उसके साथियों ने मारपीट का बदला लेने के लिए की थी। पुलिस ने तीन आरोपी साथियों को दबोचकर उनके पास से हत्या में प्रयुक्त बाइक और चाकू बरामद कर लिया है। एक आरोपी अभी भी फरार है।

एसपी संजीव त्यागी के मुताबिक नजीबाबाद के मोहल्ला आदर्श नगर निवासी मनोज कुमार के 18 साल के बेटे दीपांशु की गुमशुदगी 19 अप्रैल को दर्ज कराई गई थी। 23 अप्रैल को दीपांशु का शव भरैकी नहर में मिला था। पुलिस ने विवेचना के दौरान प्रकाश में आए मोहल्ला आदर्श नगर निवासी हर्ष वर्मा, मनीष उर्फ राजा व शुभम मलिक को गिरफ्तार करके कड़ाई से पूछताछ की। तीनों ने पुलिस को बताया कि हर्ष, मनीष उर्फ राजा, शुभम, दीपांशु, सुधांशु, रितुल आपस में दोस्त हैं। 17 अप्रैल को हर्ष व दीपांशु में झगड़ा हो गया था। सुधांशु ने दीपांशु का साथ देकर भरे बाजार में हर्ष को पीट दिया था। तभी से हर्ष ने बदला लेने की ठान ली थी। सुधांशु ने अगले दिन माफी मांग ली थी। मगर, दीपांशु ने माफी मांगने से मना कर दिया था। एसपी के मुताबिक 19 अप्रैल को नजीबाबाद के वालिया होटल के पास दीपांशु खड़ा था। हर्ष अपनी बाइक से रितुल को साथ लेकर वहां पहुंचा और दीपांशु से गिले शिकवे दूर करने को कहा। पार्टी करने की बात कहकर दीपांशु को हर्ष के घर ले गए। उस वक्त हर्ष के घर में कोई नहीं था। मनीष उर्फ राजा व शुभम को भी फोन करके बुला लिया गया। इसके बाद मनीष उर्फ राजा व शुभम ने दीपांशु के हाथ पैर पकड़ लिए। दीपांशु चिल्लाया तो रितुल ने उसका मुंह बंद कर लिया। हर्ष व रितुल ने चाकुओं से गोदकर उसकी हत्या कर दी। इसके बाद उसका मोबाइल लेकर शव को बोरी में भरकर बाइक से भरैकी के पास नहर में फेंक दिया। पुलिस ने तीनों आरोपियों की निशानदेही पर दीपांशु का मोबाइल, हत्या में प्रयुक्त चाकू रामपुर बनवारी में बिजलीघर के सामने नलकूप से बरामद किया है। रितुल फरार है। उसकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस की टीम लगा दी गई है।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/cqbLagAA

📲 Get Bijnor News on Whatsapp 💬