[bilaspur] - लगातार जारी है कोयले की अफरा तफरी , पुलिस के हाथ लगता ही नहीं खरीदार डोप मालिक !

  |   Bilaspur-Chattisgarhnews

बिलासपुर. हिर्री थाना क्षेत्र में स्थित ग्राम बेलमुंडी में महावीर कोलवाशरी द्वारा कोरबा खदान से मंगाए गए कोयले में हेराफेरी के मामले में आरोपी चालक को ही पुलिस गिरफ्तार कर पाई जबकि कोनी अंतर्गत ग्राम गतौरी स्थित कोल डिपो में बेचे गए कोयले को पुलिस अब तक बरामद नहीं कर पाई है। वहीं आरोपी चालक को जेल भेजकर पुलिस ने खानापूर्ति कर ली।

जानकारी के अनुसार चकरभाठा थानांतर्गत ग्राम रामावैली कॉलोनी निवासी पारस जैन पिता जीसी जैन ग्राम बेलमुंडी स्थित महावीर कोल वासरी में कोल इंचार्ज के पद पर कार्यरत हैं। उन्होंने कोल वासरी से कोरबा स्थित मानिकपुर खदान से 31 टन कोयला कोलवाशरी में मंगवाया था। कोलवाशरी से 19 अप्रैल को शाम पौने 7 बजे ट्रक सीजी 10 सी 7588 में 31 टन कोयला लोड कर ट्रक चालक मोहम्मद अंसारी पिता मोहम्मद हफीज (21 ) निवासी गढ़वा, झारखंड को महावीर कोल वासरी के लिए रवाना किया गया था। 20 अप्रैल को करीब सुबह 9 बजे चालक ट्रक में कोयला लेकर कोलवाशरी पहुंचा। कोयले की जांच करने पर 10 टन पत्थर मिला हुआ निकला था। पूछताछ में चालक ने बताया कि ग्राम गतौरी स्थित एक कोल डिपो में 10 टन कोयला बेचने के बाद बचे हुए 21 टन कोयले में 10 टन पत्थर मिलाया था। पारस ने आरोपी चालक को पुलिस के हवाले किया और शिकायत दर्ज कराई थी। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ धारा 407,411,34 के तहत अपराध दर्ज करने के बाद आरोपी को गिरफ्तार किया था। पुलिस ने आरोपी के बताए गए कोल डिपो में कोयला बरामद करने नहीं गई। इधर पुलिस ने आरोपी को कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया।...

फोटो - http://v.duta.us/LpFiGQAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/15__AgAA

📲 Get Bilaspur-Chattisgarhnews on Whatsapp 💬