[chhattisgarh] - नान घोटाला मामले में जांच अधिकारी ने अनिल टुटेजा को दी थी 'क्लीन चिट': वकील

  |   Chhattisgarhnews

छत्तीसगढ़ में बहुचर्चित नागरिक आपूर्ति निगम घोटाला मामले में प्रमुख आरोपी आईएएस अनिल टुटेजा को राहत मिली है. हाई कोर्ट बिलासपुर ने टुटेजा को अग्रिम जमानत दे दी है. इसके बाद टुटेजा के वकील अवि सिंह ने एक बड़ा दावा किया है. अवि सिंह का दावा है कि नान घोटाला मामले में तत्कालीन जांच अधिकारी संजय देवस्थले ने कोर्ट में एक रिपोर्ट दी है, जिसमें उन्होंने कहा है कि उन्होंने जांच के बाद आरोपियों की सूची से अनिल टुटेजा का नाम हटाने की बात कही थी, लेकिन फिर भी टुटेजा का नाम जोड़ा गया.

मामले में सुप्रीम कोर्ट के वकील अवि सिंह ने न्यूज़ 18 से हुई बातचीत में बताया कि अग्रिम जमानत याचिका लगाते हुए उन्होने कोर्ट से कहा था कि एफआईआर में नाम दर्ज नहीं है. 5 दिसंबर 2018 को पूरक चालान पेश कर नाम जोड़ा गया, इससे ना तो पुलिस ने गिरफ्तार किया और ना ही किसी तरह से पूछताछ के लिए बुलाया. 30 महीने बाद एफआईआर दर्ज किया गया. तमाम पहलुओं को सुनने के बाद हाई कोर्ट ने अनिल टुटेजा को अग्रिम जमानत दे दी....

फोटो - http://v.duta.us/KchojgAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/tgzTigAA

📲 Get Chhattisgarh News on Whatsapp 💬