[dindori] - वानर भक्षी हुआ गिरफ्तार, लंगूरों का शिकार कर जंगल में चल रही दावत की तैयारी

  |   Dindorinews

डिंडोरी। जिले में लंगूरों का शिकार कर खाने के अजीब मामले का खुलासा हुआ है। शनिवार को मुखबिर की सूचना पर कार्रवाई करते हुये वन विभाग ने जंगल में दबिश देकर दो लंगूरों के भुने हुये शव जप्त कर एक आरोपी को भी गिरफ्तार किया है। आरोपी अपने साथियों के साथ लंगूरों की दावत की तैयारी में था। वन विभाग ने संरक्षित वन्य जीव के साथ फांदा तार, आटा, टार्ज एवं आग लगाने की सामग्री भी जप्त की है। लंगूरों के शिकार एवं इसके भक्षण से जुड़ा संभवत जिले का यह पहला है। आरोपी ने भी लंगूर के मांस को बतौर भोजन की बात स्वीकार कर पिछले 20 वर्षो से लंगूर के मांस सेवन का खुलासा किया है। आरोपी 60 वर्ष का बुर्जुग है। जिसका नाम कमलेश पिता पुसवा गौड निवासी केवलारदर थाना मेंहदवानी बतलाया गया है। प्राप्त जानकारी के मुताबिक जंगलों से विलुप्त हो रहे संरक्षित वन्य जीवों से चिंतित वन विभाग ने इस बाबद कारण खोजने प्रयास किये थे। जिसके मद्देनजर क्षेत्र में इनकों खाने की नियत से शिकार करने की बात सामने आयी। मामले को गंभीरता से लेते हुये वन अमले ने मुखबिर तंत्र सक्रिय किया और शनिवार को सूचना पर अमल करते हुये वनमडलाधिकारी मधु व्ही राज के मार्ग दर्र्शन संयुक्त वनमडलाधिकारी एमएस उइके के दिशा निर्देश पर प्रभारी रेंजर आरके सोनी, परिक्षेत्र सहायक प्रमोद पाटिल, वनपाल नीतेश धुर्वे, शिवभजन लाल गोप, उदयभान मरावी, सुनीता मरावी ने आठ किमी जंगल में पैदल मार्च कर मौके पर दबिश देकर आरोपी कमलेश गौड 60 वर्ष को धरदबोचा। वन अमले ने मौके पर दो लंगूरों के शव भी बरामद किये। जिन्हें आरोपी आग में पूरी तरह भून खाने की फिराक में था। पूछताछ के दौरान वानरभक्षी आरोपी ने बतलाया कि वह पिछले दो दशकों से वानरों का शिकार कर भक्षण करता है। अपने शिकार करने के आरोप की जानकारी देते हुये आरोपी बतलाया कि उसका गिरोह लंगूरों के ठिकानों के आसपास तार का फंदा बिछा देते थे। जब वानर इसमें फंसता था तो वह पत्थर, लकड़ी, डण्डे से इनकों मार मौत की नींद सुला देते थे और जंगल में ही शिकार को आग में पका खा लेते थे। वन विभाग ने आरोपी के विरूद्ध भारतीय वन्य प्राणी अधिनियम 1972 की धाराओं के तहत कार्यवाही की है।...

फोटो - http://v.duta.us/AyMNyQAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/NUIBMAAA

📲 Get Dindori News on Whatsapp 💬