[haridwar] - हरिद्वार में तैयार हो रही नेपाल को रोशन करने की तकनीक

  |   Haridwarnews

ब्यूरो/अमर उजाला, हरिद्वार। भारत और नेपाल के बीच मधुर संबंध जगजाहिर हैं। दोनों देश एक दूसरे को हर स्तर पर मदद भी करते रहते हैं। नेपाल को बिजली के क्षेत्र में समृद्ध बनाने के लिए नई योजना पर कार्य चल रहा है। हरिद्वार के बहादराबाद में स्थित सिंचाई विभाग के अनुसंधान केंद्र में दो बिजली परियोजनाओं को बनाने के लिए मॉडल स्टडी जारी है। जल्दी ही अध्ययन का कार्य समाप्त हो जाएगा और नेपाल में हरिद्वार की तकनीक के दो बिजलीघर अस्तित्व में आएंगे।

बहादराबाद स्थित सिंचाई विभाग का अनुसंधान केंद्र देश विदेश की कईं विद्युत परियोजनाओं और नदियों पर बनने वाले पुलों की स्टडी के लिए जाना जाता है। इस समय नेपाल की नालगड़ नदी पर बनने वाले 417 मेगावाट के बिजलीघर के निर्माण का काम जारी है। वहीं राहू घाट नदी पर भी 40 मेगावाट का बिजलीघर बनाने की स्टडी चल रही है। अनुसंधान केंद्र के अवर अभियंता डीएस रावत ने बताया कि भारत सरकार की मदद से तैयार की जा रही नालगड़ परियोजना करीब 417 मेगावाट बिजली प्रदान करेगी। इससे नेपाल के अनेक क्षेत्रों को लाभ मिलेगा। वहीं दूसरी परियोजना राहू घाट बैराज की है। जेपी कंपनी द्वारा कराए जा रहे इस मॉडल के माध्यम से करीब 40 मेगावाट बिजली का उत्पादन होगा। मॉडल तैयार करने में जुटे सिंचाई विभाग के अधिकारियों ने इंजीनियर सुमित मालवाल, विजय कुमार कश्यप, एलएम कुड़ियाल आदि शामिल हैं। उन्होंने बताया कि जल्दी ही दोनों योजनाएं पूरी तैयार होकर बिजली उत्पादन करने लगेंगी और नेपाल को बिजली से समृद्ध बनाने में काफी मदद मिलेगी।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/A4jE2AAA

📲 Get Haridwar News on Whatsapp 💬