[karauli] - राजस्थान के इस जिले में प्यास बुझाने के लिए साहब के हस्ताक्षरों की जरूरत, एसडीएम साहब के आदेशों में फंसे पानी के टैंकर

  |   Karaulinews

करौली.बूंद-बूंद पानी को तरसे ग्रामीणों के प्यासे कंठों को तर करने के लिए स्वीकृत टैंकर अब उपखण्ड़ अधिकारी के आदेशों में फंस गए हैं। आदेशों के अभाव में टैंकरों से पानी की सप्लाई शुरू नहीं हो पाई है। इस कारण डांग क्षेत्र के ग्रामीण पेयजल के लिए भटक रहे हैं। सरकार ने मार्च माह में करौली जिले को 1 करोड़ १४ लाख रुपए का बजट गर्मी के मौसम में आपातकालीन व्यवस्थाओं के लिए मंजूर किया था। इस राशि से पेयजलग्रस्त गांव व शहरों में टैंकरों से पानी की सप्लाई होनी थी। लेकिन पहले टैंण्डर आमंत्रित करने में देरी हुई। टैंण्डर की प्रक्रिया पूरी होने के बाद जिला कलक्टर की अध्यक्षता में गठित समिति से टैंकरों की दरों का निर्धारण होना था। यानी गांव या कस्बों में एक टैंकर कितनी दर के हिसाब से चलेगा, इसकी दरों का निर्धारण होना था। सूत्रों ने बताया कि जिला प्रशासन व जनस्वास्थ्य एवं आभियांत्रिकी विभाग के अभियंता टैंकरों की दरों का निर्धारण समय पर नहीं कर सके। जिले भर से पेयजल संकट के मामले सामने आने पर दरों का निर्धारण पांच दिन पहले ही किया गया है। इसके बाद भी टैंकरों से पानी की आपूर्ति शुरू नहीं हो सकी।...

फोटो - http://v.duta.us/S5Wc0gAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/AVOI6QEA

📲 Get Karauli News on Whatsapp 💬