[kondagaon] - परीक्षा खत्म होते ही बच्चों को छात्रावास से भगा दिया जाता है घर, और शिक्षक करते है मौज

  |   Kondagaonnews

बोरगांव. शिक्षा की गुणवत्ता सुधार के लिए शासन द्वारा नित नए प्रयोग किया जा रहे हैं और हर संभव कोशिश की जा रही है। दूर दराज के गरीब परिवार के बच्चों को अच्छी शिक्षा देने के उद्देश्य से आवासीय विद्यालय आश्रम छात्रावास के तहत बालक और बालिकाओं के हॉस्टल का निर्माण किया गया और जहां पर बच्चों को सारी सुख सुविधाएं मुहैया कराकर बेहतर शिक्षा दिया जाना है।

बच्चों के सर्वांगीण विकास के लिए

शिक्षा विभाग की मानें तो शैक्षणिक सत्र 30 अप्रैल 16 जून तक होता है । जिसमें अधिकतर वार्षिक परीक्षाएं मार्च-अप्रैल में संपन्न हो जाती है ।

अब गौर करने वाली बात है कि वार्षिक परीक्षा के बाद खासकर आवासीय विद्यालय तथा आश्रम छात्रावासों में छात्र छात्राओं के लिए समर कैंप की तर्ज पर बच्चों के सर्वांगीण विकास के लिए जैसे शारीरिक, मानसिक, नैतिक विकास के लिए खेलकूद, कौशल विकास से संबंधित प्रशिक्षण आदि विविध गतिविधियां आयोजित किया जाना चाहिए लेकिन।...

फोटो - http://v.duta.us/M1BDEgAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/K5LdGwAA

📲 Get Kondagaonnews on Whatsapp 💬