[narsinghpur] - प्रशासन के नियमों की उड़ाई जा रही धज्जियां :गर्मी में भी धड़ल्ले से जारी है नलकूप खनन

  |   Narsinghpurnews

सालीचौका। गर्मी में भी भूजल के बेजा दोहन से लग रहा है कि लगातार गिर रहे धरती के जलस्तर पर शासन प्रशासन की उदासीनता के चलते आने वाले समय में लोग बूंद बूंद पानी को तरसेंगे। क्योंकि शासन प्रशासन जल संरक्षण के लिए कोई ठोस उपाय नहीं कर रहा। लोगों के अनुसार नदी नालों पर स्टॉप डेम का निर्माण होना चाहिए। ग्राम पंचायत स्तर पर जल संरक्षण के लिए योजनाओं का विस्तार होना चाहिए। गर्मी के किसानों के लिए मूंग और गन्ने की सफल का भी एक मापदण्ड होना चाहिए। क्योंकि ग्रीष्म समय की गन्ना एवं मूंग की फसल में सबसे ज्यादा जल का दोहन होता है। जबकि इसी समय धरती का जलस्तर सबसे ज्यादा नीचे खिसकता है। विशेषज्ञों का कहना है कि हर वर्ष धरती का जलस्तर नीचे की ओर खिसक रहा है। अगर समय रहते इसका उपाय नहीं किया गया तो वह समय अब दूर नहीं जब रेगिस्तान की तरह मध्य प्रदेश के लोग भी बूंद बूंद पानी के लिए तरस जाएंगे। इसलिए जल संरक्षण के लिए शासन को विशेष प्रयोजन करना चाहिए। जिससे धरती का जलस्तर घटने की बजाय कम से कम स्थिर ही बना रहे।...

फोटो - http://v.duta.us/5IwdmgAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/mQhkcQAA

📲 Get Narsinghpur News on Whatsapp 💬