[narsinghpur] - लिखने के पूर्व खूब अध्ययन करे रचनाकार

  |   Narsinghpurnews

लिखने के पूर्व खूब अध्ययन करे रचनाकार

जिला साहित्य सेवा समिति का पुस्तक विमोचन और काव्य गोष्ठी

नरसिंहपुर/करेली- जिला साहित्य सेवा समिति नरसिंहपुर के तत्वावधान में नजदीकी ग्राम मोहद स्थित सरस्वती शिशु मंदिर के वाचनालय कक्ष में संस्था की 80 वीं मासिक काव्यगोष्ठी का आयोजन किया गया। जिसमें ग्राम के युवा कवि सतीश तिवारी गीत संग्रह प्रेम पिपासा का विमोचन किया गया। वहीं आमंत्रित कवियों ने अपनी काव्य रचनाओं का पाठ किया। इस मौके पर कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे जिले के वरिष्ठ साहित्यकार कुशलेंद्र श्रीवास्तव ने कहा कि भाव प्रत्येक व्यक्ति के अंदर होते हैं किन्तु उन्हें अभिव्यक्त करने की क्षमता हर किसी के अंदर नहीं होती। यह हमारे जिले का सौभाग्य है कि यहां की साहित्यिक परम्परा अति प्राचीन है। जिसे जिले के रचनाकार गति देने में अपना योगदान दे रहे हैं,बस आवश्यकता इस बात की है कि रचनाकार लिखने के पूर्व खूब अध्ययन करे। कार्यक्रम को मुख्य अतिथि प्रेम नारायण तिवारी,विशिष्ट अतिथि डा सुभाष चंद्रा,गोविंद प्रसाद रजक सहित अन्य लोगों ने भी संबोधित किया। कार्यक्रम के अगले चरण में उपस्थित कवियों ने काव्य पाठ किया। इस मौके पर रमाकांत तिवारी,देवेन्द्र राजपूत,प्रशांत शर्मा,मुकेश ठाकुर, सुनील नामदेव सहित अन्य लोग मौजूद रहे।

फोटो - http://v.duta.us/JbihhwAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/PPDoxAAA

📲 Get Narsinghpur News on Whatsapp 💬