[rewari] - लापता छात्रा नहीं मिलने पर वोट न देने का एलान

  |   Rewarinews

बावल (रेबाड़ी)। उपमंडल के गांव से लापता छात्रा का दस माह बाद भी कोई पता नहीं चला है। इसके विरोध में धरना दे रहे इलाके के करीब तीन सौ लोगों ने महापंचायत कर एक पार्टी प्रत्याशी को वोट न देने का निर्णय लिया है। साथ ही समिति गठित कर अन्य गांवों में जाकर भी इस प्रत्याशी को वोट न देने की अपील करने का निर्णय लिया गया।

उपमंडल के गांव मोहनपुर निवासी कक्षा नौ की एक छात्रा 27 जून 2018 से लापता है। बावल पुलिस ने इस मामले में गांव निवासी छात्रा की एक सहेली को आरोपी बनाते रिपोर्ट दर्ज की थी। फिर भी लंबे समय तक छात्रा का कोई पता नहीं लग पाया। ग्रामीणों ने इस मामले में कई बार पंचायत की। विरोध जताते हुए धरना प्रदर्शन भी किया। बावल चौरासी के आह्वान पर ग्रामीणों ने अक्तूबर 2018 में अनिश्चितकालीन धरना शुरू कर दिया गया था, जो अब भी जारी है। इस मामले रविवार को बावल चौरासी के आह्वान पर धरना स्थल पर पंचायत हुई। करीब दो घंटे चली पंचायत में मौजूद वक्ताओं ने सत्ता पक्ष के नेताओं पर छात्रा की बरामदगी में असहयोग का आरोप लगाया। पंचायत ने सामूहिक रूप से निर्णय लिया कि 12 मई को प्रदेश में होने वालेे लोकसभा चुनावों में बावल क्षेत्र से भाजपा पार्टी प्रत्याशी को वोट नहीं देंगे। महापंचायत के दौरान पूर्व मंत्री डॉ एमएल रंगा, पूर्व विधायक रामेश्वर दयाल, किसान नेता रामकिशनमहलावत, नगरपालिका उपप्रधान चेतराम रेवाड़िया, रामचंद्र टीकला, सरजीत सरपंच, जवाहर लाल, जगदीश डहीनवाल, ज्योति यादव व बलबीर बनीपुर सहित अन्य लोग मौजूद रहे। पंचायत की अध्यक्षता बावल चौरासी के प्रधान सुमेर जैलदार ने की।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/Cm9jOgAA

📲 Get Rewari News on Whatsapp 💬