[sagar] - सुप्रीम कोर्ट की अनुमति का इंतजार और समाप्त हो जाएगा नौरादेही में अफ्रीकन चीतों का इंतजार

  |   Sagarnews

मधुर तिवारी@सागर. प्रदेश के सबसे बड़े नौरादेही अभयारण्य में अफ्रीकन चीतों को लाने का मसौदा अब साकार होता नजर आ रहा है। इंटरनेशनल यूनियन फॉर कंजर्वेशन ऑफ नेचर (आइयूसीएन) की मंजूरी के बाद अब उम्मीदें और ज्यादा बढ़ गई है। सेंचुरी के अधिकारियों का कहना है कि जैसे ही सुप्रीम कोर्ट राष्ट्रीय बाघ प्राधिकरण मप्र (एनटीसीए) की अपील पर चीतों को लाने की अनुमति देता है और यहां कुछ ही समय में सालों का इंतजार समाप्त हो जाएगा। नौरादेही अभयारण्य में 30 चीतों को बसाने की तैयारी की जा रही है। ये चीते दक्षिण अफ्रीका और नामीबिया से लाए जाएंगे। चूंकि चीतों का बसेरा घास के मैदानों में होता है इसके लिए अभयारण्य में करीब 400 वर्ग किलोमीटर में फैला घास का वन भी गांव के विस्थापन के बाद खाली हो चुका है। यानी लगभग पन्ना टाइगर रिजर्व (450 वर्ग किमी) के बराबर का घांस का मैदान चीतों के लिए खाली कराया गया है।...

फोटो - http://v.duta.us/gYfEvwAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/JpALMQAA

📲 Get Sagar News on Whatsapp 💬