[sant-kabir-nagar] - डॉ एसडी ओझा ने बताया

  |   Sant-Kabir-Nagarnews

एचआईवी पीड़ित महिलाओं का स्वास्थ्य केंद्र पर कराएं प्रसव

संतकबीरनगर। एचआईवी संक्रमित महिलाओं के प्रसव के लिए सेफ डिलेवरी किट के साथ प्रशिक्षित प्रसूति रोग विशेषज्ञ भी उपलब्ध हैं। बच्चों में एचआईवी के संक्रमण को रोकने वाली दवा भी अस्पताल में मुफ्त मिलती है।

जिला एड्स कंट्रोल अधिकारी डॉ. एसडी ओझा ने बताया कि संक्रमित गर्भवती महिलाओं को स्वास्थ्य केंद्र में ही प्रसव करवाना चाहिए। केंद्र सरकार की यह मंशा है कि एचआईवी पॉजिटिव पिता या माता की संतानें एचआईवी निगेटिव हों, इसके लिए जिला एड्स कंट्रोल सोसायटी द्वारा व्यापक सावधानियां बरती जा रही हैं। जनपद की हर आशा को यह जानकारी दी गई है कि कोई भी महिला अगर गर्भवती होती है तो अन्य जांचों के साथ उसकी एचआईवी जांच अवश्य कराएं। जांच के बाद यदि महिला एचआईवी पॉजिटिव पाई जाती है तो उसको तुरंत ही बस्ती और गोरखपुर में स्थित एआरटी सेंटर ले जाएं। वहां पर उसे एचआईवी की दवाओं की नियमित डोज दिलाएं। प्रसव के दौरान उसे संस्थागत प्रसव केंद्र पर ले जाएं। जहां पर सेल्फ डिलिवरी किट के जरिए उसका प्रसव कराया जाएगा। जन्म के दो घंटे से 72 घंटे के भीतर नवजात बच्चे को दवा पिलाई जाएगी। उन्होंने बताया इसके बाद एचआईवी के बच्चे में संचरण की संभावना 95 प्रतिशत तक समाप्त हो जाती है। आज तमाम एचआईवी पीड़ित दंपतियों के बच्चे पूरी तरह से एचआईवी से मुक्त हैं।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/782drQAA

📲 Get Sant Kabir Nagar News on Whatsapp 💬