[sirsa] - खेतीबाड़ी छोड़ 10 साल से पौधरोपण अभियान में जुटा सतपाल

  |   Sirsanews

ओढां। अलसुबह उठते ही सर्वप्रथम दो किलोमीटर की सैर करना फिर गोशाला में गोसेवा करना। पौधों कि देखरेख कर उन्हें पानी देकर उनकी निराई गुड़ाई करना इसी कार्य को अपनी दिनचर्या बना लिया नुहियांवाली निवासी करीब 58 वर्षीय सतपाल बडजाती ने। पर्यावरण हितैषी सतपाल ने बताया कि वह एक साधन संपन्न किसान है। उसने करीब 7-8 वर्ष पूर्व अपने इकलौते पुत्र को खेती का कार्यभार सौंप दिया और खुद समाज सेवा में समय लगाने का मन बना लिया।

सतपाल ने बताया कि उसकी दिनचर्या सुबह की सैर के साथ शुरू होती है। जिसके बाद वह इधर-उधर घूमने की बजाए पूरा दिन अपना समय समाज सेवा में ही बिताता है। सतपाल ने बताया कि गांव में स्थित गोशाला मेें कुछ घंटे गोसेवा में बिताने के बाद वह अपना समय सिर्फ पेड़ पौधे लगाने व उनकी देखरेख करने में ही बिताता है। अलसुबह इस शख्स को जलघर, गोशाला, जोहड़ व पार्क के इर्द-गिर्द पौधे लगाते या उनकी देखभाल करते देखा जा सकता है।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/j-okOwAA

📲 Get Sirsa News on Whatsapp 💬