[sonebhadra] - 1250 परिषदीय विद्यालयों की रिपोर्ट तलब

  |   Sonebhadranews

सोनभद्र। जिले परिषदीय प्राथमिक और उच्च प्राथमिक विद्यालयों मेें भीषण गर्मी, उमस से उमस से बच्चें बिलबिला जा रहे हैं। इससे बचाने के लिए शिक्षा विभाग ने जिन स्कूलों में वायरिंग नहीं हुई वहां पर वायरिंग करा कर पंखा, बल्ब आदि लगवाने में जुट गया है। बगैर वायरिंग के जिले में करीब 1250 विद्यालय हैं। बीएसए ने आठों ब्लॉक के खंड शिक्षाधिकारियों से ऐसे स्कूलों की रिपोर्ट मांगी है, जहां वायरिंग नहीं हुई है।

बताते चले कि राबर्ट्र्सगंज, घोरावल और दुद्धी तहसील क्षेत्र में 1804 प्राथमिक और 654 उच्च प्राथमिक विद्यालय संचालित हो रहे हैं। शासन स्तर से परिषदीय विद्यालयों में बिजली कनेक्शन लेकर कक्षों में पंखे के निर्देश के बावजूद मड़पा, सूअरसोत, कनछ, कन्हौरा, चननी, मड़पा, झपरी समेत करीब 1250 स्कूलों में बिजली की वायरिंग नहीं हुई है और पंखे भी नहीं लगे हैं। कई ऐसे भी विद्यालय हैं जहां पंखे टगें तो हैं, लेकिन चालू हालत में नहीं है। इसके चलते पढ़ाई के दौरान बच्चे उमस और गर्मी से बेहाल हो जा रहे हैं। हालांकि भीषण गर्मी को देखते हुए बीएसए ने 29 अप्रैल से जिले के सभी स्कूलों के प्रधानाचार्यों को सुबह सात बजे से पूर्वांह 11 बजे तक खोलने का निर्देश दिया है। इस संबंध में बेसिक शिक्षाधिकारी अधिकारी डॉ. गोरखनाथ पटेल ने कहा कि जिले के करीब 1250 स्कूलों में वायरिंग नहीं हुई है। खंड शिक्षाधिकारियों से जिन स्कूलों में वायरिंग कराना है, पंखे, बल्ब लगवाने है उनकी तत्काल सूची मांगी है। ताकि जल्द ही वायरिंग करवा कर पंखा आदि लगवाया जा सकें। कहा कि जिन स्कूलों के पंखें खराब है उनकी तत्काल मरम्मत करवाई जाएगी। इसके लिए प्रधानाचार्यों को निर्देशित कर दिया गया है। फिर भी मरम्मत नहीं कराते हैं तो उनके विरूद्ध कार्रवाई होगी।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/9I_tOgAA

📲 Get Sonebhadra News on Whatsapp 💬