[udaipur] - बेटी बेहोश थी तो बहन से पैसे मांगे, मजबूरी में देने पडे़ ३०० रुपए

  |   Udaipurnews

भुवनेश पण्ड्या

उदयपुर. बात गत छह अप्रेल की हैं। जब मेरी बेटी के राजकीय पन्नाधाय जनाना हॉस्पिटल में बेटा पैदा हुआ था। पुरुषों का अन्दर प्रवेश नहीं है, एेसे में मेरी बेटी के साथ मेरी बहन थी। स्ट्रेचर पर मरीज को यहां-वहां ले जाने वाली एक स्टाफ पहुंची और उसने मेरी बहन से ३०० रुपए मांगे, जब बहन ने मना किया तो उसने कहा कि यहां तो सभी देते हैं, देने ही पड़ेंगे। मरीज को किसी प्रकार की परेशानी नहीं हो, इसलिए मेरी बहन ने उस महिला को ३०० रुपए दे दिए। ये महिला खुले में सभी से बारी-बारी पैसे मांग रही थी, सभी मरीजों की परिजन महिलाएं मजबूरी में उसे पैसे दे भी रहे थी। बेरोकटोक निडर होकर वह सभी से पैसे समेट रही थी। ये आपबीती है एक पिता नारायणलाल (बदला हुआ नाम) की।...

फोटो - http://v.duta.us/lgffFwAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/nPmr8gAA

📲 Get Udaipur News on Whatsapp 💬